अगर आप बिना मास्क के घूमे तो पुलिस के अलावा यह लोग भी काट सकते हैं आपका चालान

0
141

पूरे देश में एक बार फिर से महामा’री का दौर बन रहा है। केंद्र सरकार के साथ-साथ प्रदेश सरकार भी को’वि’ड-19 के बढ़ते स्तर को देखते हुए करो’ना महा’मा’री से निपटने के लिए सख्त रुख अपना रही है।

बता दें, इस बात का अनुमान पहले से ही था कि शीत ऋतु में एक बार फिर से करो’ना की लहर पूरे देश में आएगी। क’रोना म’हामा’री से बचने के लिए केंद्र सरकार सहित सभी प्रदेशों की सरकारों ने पहले ही गाइडलाइन जारी की हुई है और साथ ही लोगों को भी इन गाइडलाइनस का पालन करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। ऐसे में सभी का मास्क लगाना बहुत जरूरी है फिर भी यदि कोई व्यक्ति बिना मास्क के पाया जाता है, तो उस व्यक्ति पर चालान करने का अधिकार सरकारी अधिकारी समेत ‘पटवारी ग्राम सेवक’ और ‘कानूनगो’ को भी दे दिया जाएगा, जो व्यक्ति बिना मास्क  के घर से बाहर निकलेगा।

हरियाणा राज्य में तो 46 दिन बाद फिर से 1 दिन में ढाई हजार से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। वही 36 दिन बाद मौ’त का आंकड़ा 20 के पार हो गया है। इन आंकड़ों को देखते हुए प्रदेश सरकार चिंतित है और बढ़ते मामलों को नियंत्रित करने के लिए प्रदेश सरकार अलर्ट हो गई है।

इसके लिए सरकार ने गाइडलाइन जारी की है कि जो भी व्यक्ति बिना मास्क के दिखेगा उसे बख्शा नहीं जाएगा। उस व्यक्ति का चालन अब पटवारी ग्राम सेवक और कानूनगो को भी करने की अनुमति मिल गई है। इसके लिए मुख्य सचिव ‘विजय वर्धन’ ने मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी उपायुक्त और अधिकारियों को निर्देश दे दिए हैं।

अनुमान के मुताबिक यह प्रक्रिया जल्द ही शुरू होने वाली है। इसके लिए डीसीपी, एस पी और अन्य अधिकारियों से कह दिया गया है कि बिना मास्क के मिलने वाले लोगों के खिलाफ कार्यवाही करें और इस वक़्त मास्क कितना जरूरी है, लोगों में इस बात की जागरूकता फैलाएं।

हरियाणा की स्थिति काफी नाजुक बनी हुई है। भिवानी, गुरुग्राम, हिसार, फतेहाबाद, सिरसा, रोहतक, करनाल, पानीपत व जींद इन सभी शहरों में मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में सरकार कोई लापरवाही नहीं बरतना चाहती। यही कारण है कि अब को’विड-19 से निपटने की जिम्मेदारी ग्राम सेवक पटवारी से लेकर कानूनगो को भी दे दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here